image

Solution of Assignment Synopsis & Project Dissertation Report


Note: ⇩    Fill the Name, Email and Mobile to get unlock the priclist...!!!!



Online-Typing-and-Filling

Title Name IGNOU SOLVED ASSIGNMENT FOR PGDT-3(2018-2019)
University IGNOU
Service Type Assignment
Course PGDT
Semester 2018-2019 Course: PGDT
Session 2018-2019
Short Name or Subject Code PGDT-3
Commerce line item Type 2018-2019 Course: PGDT
Product Assignment of PGDT 2018-2019 (IGNOU)
Price

PRICE INR

Click to View Price
Download Question File
Download Answer File 739225581684.docx (Purchase the product for download...!!!)

Questions:-


PGDT-3

 

Ans.

अनुवाद के स्वरूप के सन्दर्भ में विद्वानों में मतभेद है। कुछ विद्वज्जन अनुवाद की प्रकृति को ही अनुवाद का स्वरूप मानते हैं, जब कि कुछ भाषाविज्ञानी अनुवाद के प्रकार को ही उसके स्वरूप के अन्तर्गत स्वीकारते हैं। इस सम्बन्ध में डॉ. रवीन्द्रनाथ श्रीवास्तव का मत ग्रहणीय है। उन्होंने अनुवाद के स्वरूप को सीमित और व्यापक के आधार पर दो वगोर्ं में बाँटा है। इसी आधार पर अनुवाद के सीमित स्वरूप और व्यापक स्वरूप की चर्चा की जा रही है।

  1. अनुवाद का सीमित स्वरूप

अनुवाद के स्वरूप को दो संदर्भों में बाँटा जा सकता है-

अनुवाद का सीमित स्वरूप तथा

अनुवाद का व्यापक स्वरूप

अनुवाद की साधारण परिभाषा के अंतर्गत पूर्व में कहा गया है कि अनुवाद में एक भाषा के निहित अर्थ को दूसरी भाषा में परिवर्तित किया जाता है और यही अनुवाद का सीमित स्वरूप है। सीमित स्वरूप (भाषांतरण संदर्भ) में अनुवाद को दो भाषाओं के मध्य होने वाला ‘अर्थ’ का अंतरण माना जाता है। इस सीमित स्वरूप में अनुवाद के दो आयाम होते हैं-

पाठधर्मी आयाम तथा  प्रभावधर्मी आयाम

पाठधर्मी आयाम के अंतर्गत अनुवाद में स्रोत-भाषा पाठ केंद्र में रहता है जो तकनीकी एवं सूचना प्रधान सामग्रियों पर लागू होता है। जबकि प्रभावधर्मी अनुवाद में स्रोत-भाषा पाठ की संरचना तथा बुनावट की अपेक्षा उस प्रभाव को पकड़ने की कोशिश की जाती है जो स्रोत-भाषा के पाठकों पर पड़ा है। इस प्रकार का अनुवाद सृजनात्मक साहित्य और विशेषकर कविता के अनुवाद में लागू होता है।

  1. अनुवाद का व्यापक स्वरूप

अनुवाद के व्यापक स्वरूप (प्रतीकांतरण संदर्भ) में अनुवाद को दो भिन्न प्रतीक व्यवस्थाओं के मध्य होने वाला ‘अर्थ’ का अंतरण माना जाता है। ये प्रतीकांतरण तीन वर्गों में बाँटे गए हैं-

अंत:भाषिक अनुवाद (अन्वयांतर),

अंतर भाषिक (भाषांतर),

अंतर प्रतीकात्मक अनुवाद (प्रतीकांतर)

‘अंत:भाषिक’ का अर्थ है एक ही भाषा के अंतर्गत। अर्थात् अंत:भाषिक अनुवाद में हम एक भाषा के दो भिन्न प्रतीकों के मध्य अनुवाद करते हैं। उदाहरणार्थ, हिन्दी की किसी कविता का अनुवाद हिन्दी गद्य में करते हैं या हिन्दी की किसी कहानी को हिन्दी कविता में बदलते हैं तो उसे अंत:भाषिक अनुवाद कहा जाएगा। इसके विपरीत अंतर भाषिक अनुवाद में हम दो भिन्न-भिन्न भाषाओं के भिन्न-भिन्न प्रतीकों के बीच अनुवाद करते हैं।

अंतर भाषिक अनुवाद में अनुवाद को न केवल स्रोत-भाषा में लक्ष्य-भाषा की संरचनाओं, उनकी प्रकृतियों से परिचित होना होता है, वरन् उनकी सामाजिक-सांस्कृतिक परम्पराओं, धार्मिक विश्वासों, मान्यताओं आदि की सम्यक् जानकारी भी उसके लिए बहुत जरूरी है। अन्यथा वह अनुवाद के साथ न्याय नहीं कर पाएगा। अंतर प्रतीकात्मक अनुवाद में किसी भाषा की प्रतीक व्यवस्था से किसी अन्य भाषेत्तर प्रतीक व्यवस्था में अनुवाद किया जाता है।

अंतर प्रतीकात्मक अनुवाद में प्रतीक-1 का संबंध तो भाषा से ही होता है, जबकि प्रतीक-2 का संबंध किसी दृश्य माध्यम से होता है। उदाहरण के लिए अमृता प्रीतम के ‘पिंजर’ उपन्यास को हिन्दी फिल्म ‘पिंजर’ में बदला जाना अंतर-प्रतीकात्मक अनुवाद है।

  1. Translation is not merely a linguistic transfer but a cultural process.

Ans.

अनुवाद केवल एक भाषाई हस्तांतरण नहीं बल्कि एक सांस्कृतिक प्रक्रिया है।

  1. Under the pressure of second wave feminism, many Western governments passed sexequality laws in the 1970s.

Ans.

 

दूसरी लहर नारीवाद के दबाव में, कई पश्चिमी सरकारों ने 1 9 70 के दशक में लैंगिकता कानून पारित किए।

  • The programme provides students the perfect opportunity to pursue their research interests

within their area of specialization.

               Ans.

कार्यक्रम छात्रों को विशेषज्ञता के अपने क्षेत्र के भीतर अपने शोध हितों को आगे बढ़ाने का एक आदर्श अवसर प्रदान करता है।

 

  1. The strong focus envisaged on position affirmative action would be of considerable

significance.

              Ans.

स्थिति सकारात्मक कार्रवाई पर विचार किया गया मजबूत फोकस काफी महत्व का होगा।

  1. The journal aims at providing a forum to researchers across the world for debate on various

issues.

              Ans.

पत्रिका का उद्देश्य विभिन्न मुद्दों पर बहस के लिए दुनिया भर में शोधकर्ताओं को एक मंच प्रदान करना है।

  1. This programme is designed to provide the knowledge and skills needed to work as a

laboratory technician in a science library.

               Ans.

इस कार्यक्रम को विज्ञान पुस्तकालय में एक प्रयोगशाला तकनीशियन के रूप में काम करने के लिए आवश्यक ज्ञान और कौशल प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

  • Nirmal Verma translated several literary works from Czech into Hindi during his stay in

Prague in the 1960s.

               Ans.

1960  के दशक में प्राग में रहने के दौरान निर्मल वर्मा ने चेक से हिंदी में कई साहित्यिक कार्यों का अनुवाद किया।

  • The unit reaches out to the prospective students by providing information about academic

programme of the university, its instructional system, admission procedure etc.

              Ans.

इकाई अकादमिक के बारे में जानकारी प्रदान करके संभावित छात्रों तक पहुंच जाती है विश्वविद्यालय का कार्यक्रम, इसकी निर्देशक प्रणाली, प्रवेश प्रक्रिया इत्यादि।

  1. It was only after independence, when the nation had acquired political sovereignity, that the

gender issue began to be addressed with a practical rather than an ideological approach.

            Ans.

स्वतंत्रता के बाद ही, जब राष्ट्र ने राजनीतिक संप्रभुता हासिल की थी, कि लिंग मुद्दे को वैचारिक दृष्टिकोण के बजाय व्यावहारिक के साथ संबोधित करना शुरू किया गया था।

  1. At that time, it became legitimate to demand reform in the form of legislation about marriage rules, property rights, and equality of opportunity.

           Ans.

उस समय, शादी के नियमों, संपत्ति के अधिकारों और अवसर की समानता के बारे में कानून के रूप में सुधार की मांग करना वैध हो गया।

  

Ans.

The amount of blood in different parts of the body is different; it changes on time according to need.

Ans.

Due to new knowledge, innovation-related business relations, man coincides with new words in the world

Ans.

The purpose of this program is to provide education in the field of modern beekeeping and to prepare human resources in the field of bee keeping.

Ans.

What is the meaning of any word used in the sentence, the meaning of this translation is a very important part of the art.

Ans.

Child labor means work is done in which the person working is small to the age limit prescribed by law.

Ans.

As soon as I came out, I saw that a large number of journalists were surrounded by Mr. Narayan Mishra.

Ans.

The literary significance of Shivamurthy´s story is equally sociological.

Ans.

Jainendra Kumar´s creative illusions in the vast sky of Hindi have been distinguished as Tejpal.

Ans.

In a mysterious sense, his literature is a Upanishad of the new morality of society and society.

Ans.

Any work takes care of everyone and remains in the language in everyone´s language.

  1. a) Columbus led his three ships – the Nina, the Pinta and the Santa Maria – out of the Spanish port of Palos on August 3, 1492. His objective was to sail west until he reached Asia (the Indies) where the riches of gold, pearls and spice awaited. His first stop was the Canary Islands where the lack of wind left his expedition becalmed until September 6.

Once underway, Columbus benefited from calm seas and steady winds that pushed him steadily westward (Columbus had discovered the southern “Trades” that in the future would fuel the sailing ships carrying goods to the New World). However, the trip was long, longer than anticipated by either Columbus or his crew. In order to mollify his crew’s apprehensions, Columbus kept two sets of logs: one showing the true distance traveled each day and one showing a lesser distance. The first log was kept secret. The latter log quieted the crew’s anxiety by under-reporting the true distance they had traveled from their homeland.

This deception had only a temporary effect; by October 10 the crew’s apprehension had increased to the point of near mutiny. Columbus headed off disaster by promising his crew that if land was not sighted in two days, they would return home. The next day land was discovered.

Ans.

3 अगस्त 1492 को कोलंबस के स्पेनिश बंदरगाह से कोलंबस ने अपने तीन जहाजों - नीना, पिंटा और सांता मारिया का नेतृत्व किया। उनका उद्देश्य एशिया (इंडीज) तक पहुंचने तक पश्चिम की ओर बढ़ना था, जहां सोने, मोती की संपत्ति और मसाला इंतजार कर रहा था। उनका पहला पड़ाव कैनरी द्वीप था जहां हवा की कमी ने 6 सितंबर तक अपने अभियान को छोड़ दिया।

एक बार चलने के बाद, कोलंबस को शांत समुद्रों और स्थिर हवाओं से लाभ हुआ जो उन्हें लगातार पश्चिम की ओर धकेलते थे (कोलंबस ने दक्षिणी "व्यापार" की खोज की थी जो भविष्य में नौकायन जहाजों को नई दुनिया में ले जाने के लिए ईंधन भर देगा)। हालांकि, यह यात्रा कोलंबस या उसके चालक दल द्वारा अनुमानित की तुलना में लंबी थी। अपने चालक दल की आशंकाओं को शांत करने के लिए, कोलंबस ने लॉग के दो सेट रखे: एक व्यक्ति ने सही दिन दिखाया और प्रत्येक दिन कम दूरी दिखा रहा था। पहला लॉग गुप्त रखा गया था। उत्तरार्द्ध लॉग ने चालक दल की चिंता को शांत कर दिया ताकि वे अपनी मातृभूमि से यात्रा की गई वास्तविक दूरी की रिपोर्ट कर सकें।

इस धोखे से केवल अस्थायी प्रभाव पड़ा; 10 अक्टूबर तक चालक दल की आशंका विद्रोह के बिंदु तक बढ़ गई थी। कोलंबस ने अपने चालक दल को वादा करके आपदा का नेतृत्व किया कि यदि जमीन दो दिनों में नहीं देखी गई, तो वे घर लौट जाएंगे। अगले दिन भूमि की खोज की गई।

  1. b) The revival of the Olympic Games in 1896, unlike the original Games, has a clear, concise history. Pierre de Coubertin (1863–1937), a young French nobleman, felt that he could institute an educational program in France that approximated the ancient Greek notion of a balanced development of mind and body. The Greeks themselves had tried to revive the Olympics by holding local athletic games in Athens during the 1800s, but without lasting success. It was Baron de Coubertin´s determination and organizational genius, however that gave impetus to the modern Olympic movement. In 1892 he addressed a meeting of the Union des Sports Athlétiques in Paris. Despite meager response he persisted, and an international sports congress eventually convened on June 16, 1894. With delegates from Belgium, England, France, Greece, Italy, Russia, Spain, Sweden, and the United States in attendance, he advocated the revival of the Olympic Games. He found ready and unanimous support from the nine countries. De Coubertin had initially planned to hold the Olympic Games in France, but the representatives convinced him that Greece was the appropriate country to host the first modern Olympics. The council did agree that the Olympics would move every four years to other great cities of the world.

Ans.

18 9 6 में ओलंपिक खेलों के पुनरुत्थान, मूल खेलों के विपरीत, एक स्पष्ट, संक्षिप्त इतिहास है। एक युवा फ्रांसीसी राजकुमार पियरे डी क्यूबर्टिन (1863-19 37) ने महसूस किया कि वह फ्रांस में एक शैक्षिक कार्यक्रम स्थापित कर सकता है जिसने दिमाग और शरीर के संतुलित विकास की प्राचीन ग्रीक धारणा को अनुमानित किया। ग्रीक लोगों ने 1800 के दशक के दौरान एथेंस में स्थानीय एथलेटिक खेलों को आयोजित करके ओलंपिक को पुनर्जीवित करने की कोशिश की थी, लेकिन बिना स्थायी सफलता के। यह बैरन डी क्यूबर्टिन का दृढ़ संकल्प और संगठनात्मक प्रतिभा था, हालांकि आधुनिक ओलंपिक आंदोलन को बढ़ावा मिला। 18 9 2 में उन्होंने पेरिस में यूनियन डेस स्पोर्ट्स एथल टिक्ट की एक बैठक को संबोधित किया। कम प्रतिक्रिया के बावजूद उन्होंने जारी रखा, और अंततः 16 जून, 18 9 4 को एक अंतरराष्ट्रीय खेल कांग्रेस ने बुलाया। बेल्जियम, इंग्लैंड, फ्रांस, ग्रीस, इटली, रूस, स्पेन, स्वीडन और संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रतिनिधियों के साथ उपस्थित होने के बाद उन्होंने पुनरुत्थान की वकालत की ओलिंपिक खेल। उन्हें नौ देशों से तैयार और सर्वसम्मति से समर्थन मिला। डी क्यूबर्टिन ने शुरुआत में फ्रांस में ओलंपिक खेलों को आयोजित करने की योजना बनाई थी, लेकिन प्रतिनिधियों ने उन्हें आश्वस्त किया कि ग्रीस पहले आधुनिक ओलंपिक की मेजबानी करने के लिए उपयुक्त देश था। परिषद इस बात से सहमत थी कि ओलंपिक हर चार साल दुनिया के अन्य महान शहरों में चलेगा।

  1. c) The first substantial computer was the giant ENIAC machine by John W. Mauchly and J. Presper Eckert at the University of Pennsylvania. ENIAC (Electrical Numerical Integrator and Calculator) used a word of 10 decimal digits instead of binary ones like previous automated calculators/computers. ENIAC was also the first machine to use more than 2,000 vacuum tubes, using nearly 18,000 vacuum tubes. Storage of all those vacuum tubes and the machinery required to keep the cool took up over 167 square meters (1800 square feet) of floor space. Nonetheless, it had punched-card input and output and arithmetically had 1 multiplier, 1 divider-square rooter, and 20 adders employing decimal "ring counters," which served as adders and also as quick-access (0.0002 seconds) read-write register storage. The executable instructions composing a program were embodied in the separate units of ENIAC, which were plugged together to form a route through the machine for the flow of computations. These connections had to be redone for each different problem, together with presetting function tables and switches. This "wire-your-own" instruction technique was inconvenient, and only with some license could ENIAC be considered programmable; it was, however, efficient in handling the particular programs for which it had been designed. ENIAC is generally acknowledged to be the first successful high-speed electronic digital computer (EDC) and was productively used from 1946 to 1955.

Ans.

पहला महत्वपूर्ण कंप्यूटर पेन डेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय में जॉन डब्ल्यू माउची और जे प्रेपर इकर्ट द्वारा विशाल एनआईआईएसी मशीन था। एनआईआईएसी (इलेक्ट्रिकल न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर और कैलक्यूलेटर) ने पिछले स्वचालित कैलकुलेटर / कंप्यूटर जैसे द्विआधारी लोगों के बजाय 10 दशमलव अंकों का एक शब्द इस्तेमाल किया। एनआईआईएसी लगभग 18,000 वैक्यूम ट्यूबों का उपयोग करके 2,000 से अधिक वैक्यूम ट्यूबों का उपयोग करने वाली पहली मशीन भी थी। उन सभी वैक्यूम ट्यूबों का संग्रहण और ठंडा रखने के लिए आवश्यक मशीनरी 167 वर्ग मीटर (1800 वर्ग फुट) मंजिल की जगह ले ली गई है। फिर भी, इसमें पेंच-कार्ड इनपुट और आउटपुट था और अंकगणितीय रूप से 1 गुणक, 1 विभक्त-वर्ग रूटर था, और दशमलव "अंगूठी काउंटर" को नियोजित 20 योजक, जो एडर्स के रूप में कार्य करते थे और त्वरित पहुंच (0.0002 सेकंड) पढ़ने-लिखने वाले रजिस्टर के रूप में भी काम करते थे भंडारण। एक कार्यक्रम लिखने वाले निष्पादन योग्य निर्देश एनआईआईएसी की अलग इकाइयों में शामिल किए गए थे, जिन्हें कम्प्यूटेशंस के प्रवाह के लिए मशीन के माध्यम से एक मार्ग बनाने के लिए एक साथ जोड़ा गया था। फ़ंक्शन टेबल और स्विच प्रीसेट करने के साथ-साथ, इन कनेक्शनों को प्रत्येक अलग-अलग समस्या के लिए फिर से किया जाना था। यह "तार-अपनी-खुद" निर्देश तकनीक असुविधाजनक थी, और केवल कुछ लाइसेंस के साथ ENIAC को प्रोग्राम करने योग्य माना जा सकता था; हालांकि, यह उन विशेष कार्यक्रमों को संभालने में सक्षम था, जिनके लिए इसे डिजाइन किया गया था। एनआईआईएसी को आम तौर पर पहला सफल हाई-स्पीड इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर (ईडीसी) माना जाता है और इसका उपयोग 1 9 46 से 1 9 55 तक किया जाता था।

  1. d) India is home to one of the largest film industries in the world. Every year thousands of movies are produced in India. Indian film industry comprises of Hindi films, regional movies and art cinema. The Indian film industry is supported mainly by a vast film-going Indian public, though Indian films have been gaining increasing popularity in the rest of the world, especially in countries with large numbers of emigrant Indians.

India is a large country where many languages are spoken. Many of the larger languages support their own film industry. Some of the popular regional film industries in India are Bengali, Tamil, Telugu, Kannada, Malayalam and Punjabi. The Hindi/Urdu film industry, based in Mumbai, formerly Bombay, is called Bollywood. Similar neologisms have been coined for the Tamil film industry Tollywood and the Telugu film industry. Tollygunge is metonym for the Bengali film industry, long centered in the Tollygunge district of Kolkata. The Bengali language industry is notable as having nurtured the director Satyajit Ray, an internationally renowned filmmaker and a winner of many awards.

The Bollywood industry is the largest in terms of films produced and box office receipts, just as Urdu/Hindi speakers outnumber speakers of other Indian languages. Many workers in other regional industries, once established, generally move to Bollywood for greater spotlight or opportunity.

Ans.

भारत दुनिया के सबसे बड़े फिल्म उद्योगों में से एक है। हर साल भारत में हजारों फिल्में बनाई जाती हैं। भारतीय फिल्म उद्योग में हिंदी फिल्में, क्षेत्रीय फिल्में और कला सिनेमा शामिल हैं। भारतीय फिल्म उद्योग को मुख्य रूप से एक विशाल फिल्म जाने वाले भारतीय जनता द्वारा समर्थित किया जाता है, हालांकि भारतीय फिल्मों में शेष दुनिया में लोकप्रियता बढ़ रही है, खासतौर पर बड़ी संख्या में आप्रवासी भारतीयों के देशों में।

भारत एक बड़ा देश है जहां कई भाषाएं बोली जाती हैं। कई बड़ी भाषाएं अपने स्वयं के फिल्म उद्योग का समर्थन करती हैं। भारत में कुछ लोकप्रिय क्षेत्रीय फिल्म उद्योग बंगाली, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम और पंजाबी हैं। मुंबई में स्थित हिंदी / उर्दू फिल्म उद्योग, पूर्व में बॉम्बे को बॉलीवुड कहा जाता है। इसी तरह के नवविज्ञान तमिल फिल्म उद्योग टॉलीवुड और तेलुगू फिल्म उद्योग के लिए तैयार किए गए हैं। Tollygunge है बंगाली फिल्म उद्योग के लिए मेटाबोन, कोलकाता के टॉलीगंज जिले में केंद्रित है। बंगाली भाषा उद्योग एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध फिल्म निर्माता और कई पुरस्कारों के विजेता निर्देशक सत्यजीत रे को पोषित करने के रूप में उल्लेखनीय है।

बॉलीवुड उद्योग फिल्मों और बॉक्स ऑफिस रसीदों के मामले में सबसे बड़ा है जैसे उर्दू / हिंदी वक्ताओं अन्य भारतीय भाषाओं के वक्ताओं से अधिक है। एक बार स्थापित होने वाले अन्य क्षेत्रीय उद्योगों में कई श्रमिक आम तौर पर बॉलीवुड में अधिक स्पॉटलाइट या अवसर के लिए जाते हैं।

Ans.

As a philosophical activity in western thought, the concept of ´Soviet theology´ emerged in the eighteenth century when art was found to be practiced by separating hand-drawn arts. Its result came out in the classification of the concept of ´fine arts´ by theorists. In 1750, Al-Axa Gertleb Bowmarten wrote a debate by writing ´Aasthyetika´. After seven years of this, a discussion of the emergence of hundred aesthetics was questioned by David Hume writing ´Off the Standard of Test´.

The real beginnings of modern European aesthetic excellence were published in 1790 in the book "Critique of Judgment", published by Emmanuel Kant. In this work, the emphasis is on formulating the standards for hundred and hundred metallurgical assessments to be universal. But, on the other hand, they are being seen while expressing the possibility of any kind of universal sonic expertise. The achievement of this contradiction was that he established some mandatory bifurcations for the interpretation of art and beauty. The most notable of these bifurcations; Indrivrabh and logic-intellect, essence and form, expression and expression, joy and subservience, freedom and the need etc. The second achievement of Kent was that he established an eternity between the hundred metaphysical experiences and the sensual experience. He said that the hundred metaphysical interpretation and its determination should be done without any practical attachment towards the goal of universalization.

Ans.

The area of ​​history is broad or broad. History of history, history, history, history, history, history, history, history, history, history etc. Hence it can be said that the philosophical, scientific, and other approaches, like his own personal attribute of historical perspective. It is a thought-style that was prevalent in early ancient times and especially in the 17th century civil society. 19th Century Season A historical knowledge of its development is often considered necessary for the study of each subject.

History is often written in towns, institutions and special countries or even the Yugos. Now, efforts and efforts have been started on this, that if it is possible, it is not only civilized, but the mass development or destruction of human beings should be studied like that of Pragola. The achievement of this goal, however, is not possible, but that Buddy is lucky. Its primary map is estimated to require long time, effort and association for the world´s priceless history. Some scholars believe that if the history of world history and human tendencies are to be taken out of some omnipotent theory, then history will lose its personal characteristic by turning it into sociology. This fear is not so worrisome as to what is the need of history for sociology, as is the history of sociology. Virtually history is the creation of sociology itself.

Ans.

The World Health Organization (Health Insurance Council) is an important institution of mutual cooperation and development on the health related issues of the world´s population. This institution was established on April 7, 1948. This is a visually impaired entity of the nation. 193 members of World Health Organization are members and members of the community. Its aim will be to bring healthcare to the level of health. WHO Headquartered in Switzerland is located in Jane and the city of Sunderland.  India is also a member of the World Health Organization, and its Indian headquarters is located in the capital city of Delhi.

W.H.O. The center of the constitution was accepted on July 22, 1946 and it was passed on April 7, 1948. done. On 15th November 1947, the World Health Organization became the exclusive agency of the nation. W.H.O. The activities of the International Office of Public Health, and the activities of the Scheduled Castes, Relief and Rehabilitation Administration (UNRRA) were also taken into account. Headquartered in Geneva, the headquarters of the World Health Organization, with 194 members.

W.H.O. The goal of all the people is to assist in achieving the highest quality of health. The World Health Organization is considered to be one of the most successful Nation agencies. It acts as a co-ordinating authority on post-secondary healthcare and encourages active cooperation in health matters. Its programs include the development and promotion of health services, prevention and control of the environment, decent environmental health, healthy manpower development and biotherapy, health care, research and health programs. WHO Member countries engages in the development of health services, whose goal is to ensure health care for all, to promote maternal and child health, family planning, nutrition, health education and health, clean water supply and sanitation Regulation, prevention of infectious diseases, production and quality control of medicines and vaccines and research incentives etc. The organization also supports health data, including the ingestion, distribution and distribution and sponsors comparative studies in the treatment of disease symptoms, diseases and treatments. 


Questions:-



Only after making the payment you would be able to see the answer...!!!

Review

Average user rating

4.8 / 5

Rating breakdown

5
80% Complete (danger)
1
4
80% Complete (danger)
1
3
80% Complete (danger)
0
2
80% Complete (danger)
0
1
80% Complete (danger)
0

January 29, 2015
This was nice in buy
Assignment from solve zone is probably one of the first preference of students.

January 29, 2015
This was nice in buy
Assignment from solve zone is probably one of the first preference of students.

12-Sep, 2018
This was nice in buy
Assignment from solve zone is probably one of the first preference of students.